ग्राहक / नागरिक अधिकार पत्र

(1) ) संकल्पना:

भारत का ई-विकास इसे एक विकसित राष्ट्र तथा एक सशक्‍त समाज की ओर रूपांतरित करने का प्रेरक है।

(2)) मिशन ::

ई-अवसंरचना सृजन की बहु दिशा कार्यनीति के माध्‍यम से भारत के ई-विकास द्वारा ई-शासन की सुविधा और प्रोत्‍साहन देना, इलेक्ट्रॉ निकी और सूचना प्रौद्योगिकी– सूचना प्रौद्योगिकी समर्थित सेवाओं (आईटी-आईटीईएस) उद्योग को प्रोत्‍साहन देना, आईसीटी तथा ई में नवोदभव / अनुसंधान और विकास (आरएण्डडी) अवसंरचना का सृजन करना, ज्ञान नेटवर्क का निर्माण और भारत के साइबर स्‍पेस को सुरक्षित रखना।

क)  उद्देश्‍य :

  • ई-शासन :ई-सेवाओं की प्रदायगी के लिए ई-मूल संरचना उपलब्ध कराना
  • ई-उद्योग :इलेक्ट्रॉनिकी हार्डवेयर विनिर्माण और आईटी-आईटीईएस उद्योग का प्रोत्साहन
  • ई- नवोदभव / अनुसंधान और विकास : आईसीटी एण्ड ई के उभरते हुए क्षेत्रों में नवोदभव / अनुसंधान और विकास (आरएण्डडी) अवसंरचना का समर्थनकारी सृजन।
  • ई-अधिगम :ई-कौशलों तथा ज्ञान नेटवर्क के विकास को समर्थन प्रदान करना
  • ई-सुरक्षा :भारत के साइबर स्पेस की सुरक्षा करना ।

ख) उद्देश्‍यों की प्राप्ति निम्‍नलि‍खित के माध्‍यम से की जानी है ::

  • ई-सरकार: ई-शासन पर योजना स्कीमों का कार्यान्वयन
  • ई-उद्योग :एसटीपीआई पर योजना स्कीमों का कार्यान्वयन, इलेक्ट्रॉनिकी हार्डवेयर विनिर्माण और आईटीआईआर को प्रोत्सा्हन
  • ई-नवोदभव / अनुसंधान और विकास :समीर, सूक्ष्म इलेक्ट्रॉनिकी और नैनो टेक विकास कार्यक्रम, प्रौद्योगिकी विकास परिषद (आईटीआरए सहित), संकेन्द्रण, संचार और सामरिक इलेक्ट्रॉनिकी, पुर्जे और सामग्री विकास कार्यक्रम, सी-डैक, एमएल एशिया, स्वास्थ्य और टेली मेडिसिन में इलेक्ट्रॉनिकी तथा भारतीय भाषाओं के लिए प्रौद्योगिकी विकास के माध्यम से योजना स्कीमों का कार्यान्वयन।
  • ई-अधिगम :एसटीक्यूसी, अर्नेट, राष्ट्रीय ज्ञान नेटवर्क, डीओईएसीसी, जनशक्ति विकास, कौशल विकास पर योजना स्कीमों का कार्यान्वयन ।
  • ई-सुरक्षा :आई सर्ट और आईटी अधिनियम, प्रमाणन प्राधिकरण नियंत्रक सहित साइबर सुरक्षा पर योजना स्कीमों का कार्यान्वयन

(3) )  सेवा मानक :

क्रम. सं. मुख्य सेवाएं मानक
(I) -ई-शासन: ई-सेवाओं की प्रदायगी के लिए ई-अवसंरचना प्रदान करना
1 (i) राज्य व्यापी क्षेत्र नेटवर्क (स्वान) की स्थापना के लिए प्रस्तावों का अनुमोदन प्रस्तावों की प्राप्ति से 6 सप्ताह
  (ii) स्वान के लिए राज्य‍ सरकारों को किश्तें जारी करना किश्तें जारी करने के अनुरोध और उपयोगिता प्रमाणपत्र प्राप्ति से 4 सप्ताह
2 (i) राज्य डेटा केन्द्रों (एसडीसी) के लिए राज्य सरकारों के प्रस्तावों का अनुमोदन प्रस्तावों की प्राप्ति से 6 सप्ताह
  (ii) राज्य डेटा केन्द्रों (एसडीसी) के लिए राज्य सरकारों को किश्तें जारी करना किश्तें जारी करने के अनुरोध और उपयोगिता प्रमाण पत्र प्राप्ति से 4 सप्ता्ह
3 (i) सामान्य सेवा केन्द्रों (सीएससी) की स्थापना के लिए राज्य‍ सरकारों के प्रस्तावों का अनुमोदन प्रस्तावों की प्राप्ति से 6 सप्ताह
  (ii) सामान्य सेवा केन्द्रों (सीएससी) के लिए राज्य‍ सरकारों को किश्तें जारी करना किश्तें जारी करने के अनुरोध और उपयोगिता प्रमाणपत्र प्राप्ति से 4 सप्ताह
4 मिशन मोड परियोजनाओं (एमएमपी) का अनुमानित खर्च परियोजना दस्तापवेज की इलेक्ट्रॉनिक प्रति प्राप्त् होने की तिथि से तीन सप्ताह
5 एनईजीपी के लिए नेतृत्व बैठकों और प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन प्रस्ताव प्राप्ति की तिथि से एक माह
6 नवाचारी परियोजनाओं के लिए प्रस्तावों का समय पर अनुमोदन संपूर्ण प्रस्तातव / या स्पसष्टीककरण प्राप्त होने, यदि कोई हों तो उससे 8 सप्तांह
(II)   ई-उद्योग: इलेक्ट्रॉ निक हार्डवेयर विनिर्माण और आईटी आईटीईएस उद्योग को प्रोत्साणहन
7 तकनीकी दृष्टि से संबंधित प्रशासनिक मंत्रालय के तौर पर अग्रिम लाइसेंस / अग्रिम प्राधिकरण से संबंधित मानकों की अभिपुष्टि के संबंध में डीजीएफटी से संपूर्ण आवेदन प्राप्ति और आवेदक से पूरी तरह से भरे हुए आवेदन / कमियों की जानकारी प्राप्ता होने पर डीजीएफटी को समय पर सिफारिशें करना पूरी तरह से भरे हुए आवेदन / कमियों की जानकारी प्राप्ती होने के 30 दिनों के अंदर
8 के संबंध में डीजीएफटी से संपूर्ण आवेदन प्राप्ति और आवेदक से पूरी तरह से भरे हुए आवेदन / कमियों की जानकारी प्राप्तद होने पर प्रतिबंधित वस्तुओं के आयात के लिए लाइसेंस जारी करने हेतु आवेदनों के संबंध में संबंधित प्रशासनिक मंत्रालयों के तौर पर डीजीएफटी को समय पर सिफारिशें करना पूरी तरह से भरे हुए आवेदन / कमियों की जानकारी प्राप्त् होने के 30 दिनों के अंदर
9 राजस्वप विभाग की संगत अधिसूचना के तहत रियायती सीमा शुल्क् प्रमाणपत्र समय पर जारी करना आवेदक से पूरी तरह से भरे हुए आवेदन / कमियों की जानकारी प्राप्ता होने के 30 दिनों के अंदर
10 विशेष प्रोत्साहन पैकेज योजना (एसआईपीएस) के तहत उद्योग को प्रोत्सा हनों की स्वी कृति आवेदक से पूरी तरह से भरे हुए आवेदन / कमियों की जानकारी प्राप्त होने तथा मूल्यांकन समिति की सिफारिशों के आधार पर सक्षम प्राधिकारी का अनुमोदन प्राप्त होने के 30 दिनों के अंदर
11 विशेष प्रोत्साहन पैकेज योजना (एसआईपीएस) के तहत उद्योग को प्रोत्साहन जारी करना योजना आयोग द्वारा निधियों के आबंटन और स्वी कृति की शर्तों और निबंधनों के आधार पर आवेदक से पूरी तरह से भरे हुए आवेदन / कमियों की जानकारी प्राप्त होने के 60 दिनों के अंदर
(III) ई-नवोदभव / अनुसंधान और विकास : आईसीटी एण्ड/ ई के उभरते हुए क्षेत्रों में समर्थकारी नवोदभव / अनुसंधान और विकास अव संरचना का सृजन
12 वित्तीय सहायता के विचारार्थ नई परियोजनाओं का मूल्यांकन परियोजनाएं कार्य दल (हों) की अंतिम अनुकूल सिफारिशों की तिथि से 6 माह के भीतर आरंभ की जाएंगी।
13 चल रही परियोजनाओं के लिए निधियां जारी करना परियोजना समीक्षा और विषय निर्वाचन समूह (पीआरएसजी) की सिफारिशों तथा स्वीवकार करने योग्यी उपयोगिता प्रमाणपत्र (यूसी) प्रस्तुत करने की तिथि से दो माह के अंदर
(IV) अधिगम : ई-कौशल और ज्ञान नेटवर्क के विकास को सहायता प्रदान करना
14

उच्चन स्तेरीय समिति (एचएलसी) की सिफारिशों के अनुसार राष्ट्रीय ज्ञान नेटवर्क के लिए एनआईसी को समय पर निधियां जारी करना

उच्चर स्तेरीय समिति की सिफारिशों के 3 माह के अंदर
15 नई परियोजनाओं की शुरूआत और निधि जारी करना पूरे किए गए आवेदन प्राप्तई होने की तारीख से 6 माह के अंदर
(V) ) ई-सुरक्षा : : भारत के साइबर स्पेपस को सुरक्षित रखना
16 वित्तीय सहायता पर विचार करने के लिए नई अनुसंधान और विकास परियोजनाओं का मूल्यांकन पूर्ण रूप से भरे हुए परियोजना आवेदन प्राप्तव होने की तिथि के 3 माह के अंदर परियोजना प्रस्ताावों के मूल्यांकन/ आकलन किए जाएंगे। परियोजना की शुरूआत कार्य समूह (हों) की अंतिम अनुकूल सिफारिशों की तिथि के 3 माह के अंदर की जाएगी ।
17

आईटी सुरक्षा लेखा परीक्षकों की मौजूदा नामिकाबद्ध सूची बनाए रखना

नामिकाबद्ध करने के आवेदन प्रत्येदक 3 माह में प्राप्तक किए जाएंगे। पूर्ण रूप से भरे हुए आवेदन प्राप्ता होने के 6 सप्ताह के अंदर सफल या असफल नामिकाबद्ध होने की स्थिति की सूचना आवेदकों को दी जाएगी।
18 सुरक्षा घटनाओं पर प्रतिक्रिया देना सुरक्षा घटनाओं का पता लगाने के 24 घण्टोंह के अंदर प्रतिक्रिया देना (घटना की गंभीरता पर निर्भर करते हुए उपयुक्त समय सीमा)
19 नवीनतम धमकियों और सुभेद्यताओं पर सुरक्षा चेतावनी जारी करना मामला सामने आने के 72 घण्टों के अंदर चेतावनी का प्रकाशन

(4)  शिकायत निवारण तंत्र :

संपर्क की जानकारी :

श्री आर.के.गोयल,
संयुक्त सचिव – डीईआईटीवाई (निदेशक, शिकायतें)
कमरा नं. - 4003,
इलेक्ट्रॉ निकी और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग
इलेक्ट्रॉ निक्स निकेतन, 6 सीजीओ काम्प्लेक्स, लोदी रोड
दिल्ली– 110003
फोन :+91-11-24363078
ई-मेल : raj.goyal AT deity.gov.in

 

शिकायतकर्ता अपनी शिकायतों के संदर्भ में प्रत्येक बुधवार शाम 4:00 बजे – 5:00 बजे के बीच निदेशक, शिकायत से मिल सकते हैं
या
विभाग की वेबसाइट www.deity.gov.in पर दी गई सुविधाओं के माध्यम से आपातकालीन अनुरोध किया जा सकता है।

शिकायतकर्ताओं से अपेक्षाएं

  • पूर्ण और तथ्यात्मक शिकायतें प्रस्तुत करना
  • अनुवर्तन के लिए अपनी पहचान हेतु अधिमानत: टेलीफोन नं. / ई-मेल आईडी बताई जाए
  • कोई गुमनाम शिकायतें न करें!

शिकायत निपटान प्रक्रिया

प्रत्‍युत्तर की समय सीमा ::

  • • पावती - 2 कार्य दिवसों के अंदर
  • शिकायत का निपटान (निदेशक, शिकायत द्वारा)  
    शिकायत प्राप्ति / स्पष्टीकरण की प्राप्ति, यदि कोई हों, की तिथि से एक माह

(शिकायत की स्थिति www.deity.gov.in पर ऑनलाइन देखी जा सकती है)

(5) पणधारी / ग्राहक ::

(6)  दायित्व केन्द्र

  • राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (एनआईसी)
  • मानकीकरण, परीक्षण और गुणवत्ता प्रमा‌णन (एसटीक्यूसी)
  • प्रायोगिक सूक्ष्म तरंग इलेक्ट्रॉनिकी इंजीनियरी और अनुसंधान सोसाइटी (समीर)
  • प्रगत संगणन विकास केंद्र (सी-डैक), पुणे
  • भारतीय सॉफ्टवेयर प्रौद्योगिकी पार्क (एसटीपीआई)
  • राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईईएलआईटी)
  • इलेक्ट्रॉनिकी सामग्री प्रौद्योगिकी केंद्र (सी-मेट)
  • शैक्षिक और अनुसंधान नेटवर्क (अर्नेट) भारत
  • इलेक्ट्रॉनिकी और कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर निर्यात संवर्धन परिषद (ईएससी)
  • प्रमाणन प्राधिकारी नियंत्रक (सीसीए)
  • साइबर अपीलीय प्राधिकरण (केट)
  • अर्धचालक एकीकृत परिपथ लेआउट डिजाइन रजिस्ट्री (एसआईसीएलडीआर)
  • भारतीय कम्प्यूटर आपात प्रतिक्रिया दल (आई सर्ट)
  • मीडिया लैब एशिया (एमएल एशिया)

(7) सेवा प्राप्त करने वालों से सांकेतिक अपेक्षाएं

  • पूर्णत: वैध डीपीआर / प्रस्‍ताव / अनुरोध प्रस्तुत करना
  • निर्धारित प्रारूप में समय पर उपयोगिता प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना
  • मिशन मोड परियोजनाओं के लिए परियोजना दस्तावेज की इलेक्‍ट्रॉनिक प्रति प्रस्तुत करना
  • संशोधित प्रस्तावों के साथ निर्धारित प्रारूप में संपूर्ण अनुसंधान और विकास अनुदान प्रस्ताव प्रस्तुत करना
  • पूर्ण रूप से भरे हुए आवेदन प्रस्तुत करना
  • आवेदन पत्र में बताई गई कमियों का समय पर उत्तर
  • संपूर्ण सुरक्षा घटना रिपोर्टिंग प्रपत्र प्रस्तुत करना

(प्रस्ताव और डीपीआर के टेम्प्लेट www.deity.gov.inपर उपलब्ध हैं)

(8)    ) चार्टर की अगली समीक्षा का माह और वर्ष

अधिकार पत्र की अगली समीक्षा की तिथि : 30 नवम्बर, 2011


इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा स्वामित्व सामग्री

http://india.gov.in, The National Portal of India : External website that opens in a new window

Page last updated on March 7, 2017

  • Site Counter: 174,443